BREAKING NEWS
latest

Have to walk like a Sanyaasi - No Matter what the Path

Everything is related to everything else ( We are one )



I will enjoy the travels of my free spirit 
and the amazing journeys within my Feelings.
 I will wake up fresh, 
clear and ready to journey 
through the seconds of my life 
in my well rested physical body!!! 
It always amazes me 
how I am all one Mentally, 
physically, 
emotionally 
and spiritually 
when I awaken! 
Wow! 
What a beautiful Journey 
and 
its Beauty


« PREV
NEXT »

रेतली राह का मुसाफ़िर

रेतली राह का मुसाफ़िर
माननीय प्यार , आज मैं खुद को आप के आगे सन्मानित करना चाहती हूँ कि मैं आप की रचना हूँ ; और खुदा के आगे मैं खुद को धन्यवाद का उपहार देना चाहती हूँ कि 'धन्यवाद शहीर ' कि आप ने खुदा से प्यार किया। हर किर्या के लिए धन्यवाद
The best cure of the body is a quite mind:. Powered by Blogger.