BREAKING NEWS
latest

The Artist will always produce Art

The Artist will always produce Art
यह कॉस्मिक कला एक ऐसी कलाकारी है, जो कि खालीपन पर खाली रंग से ही की गई है। जब हम इस कलाकारी को समझने के काबिल हो जातें हैं तो हम खुद के रहस्य से जानू हो जातें हैं

seven steps

Those seven steps


Those seven experiences that changed the direction along with my condition.
वो सात अनुभव जो मेरी दशा के साथ दिशा को भी बदल गए। 





It was at that moment that when I passed through it, I came to recognize the era.
वो पल ही ऐसा था कि जब मैं उस में से गुज़री तो युग की अदा पहचान गई। 










That thinking was such that when that 'thought' came, it changed the direction of life itself.
वो सोच ही कुछ ऐसी थी कि जब वो 'सोच' आई तो जीवन की दिशा को ही बदल कर चली गई। 







That breath was such that when that 'breath' came, it was identified with the entirety of life.
वो सांस ही कुछ ऐसी थी कि जब वो 'सांस' आई तो जीवन की सम्पूर्णता से पहचान करवा गई।










That first step was such that it had the same comfort as 'Destination'.
वो पहला कदम ही ऐसा था, जिस में मंज़िल जैसा ही आराम था। 









Seeing myself was something that I felt shy from myself.
मेरा खुद को देखना ही कुछ ऐसा था कि मैं खुद से ही शर्माने लगी।









I knew the 'confluence of death and life' when I was lost in a moment of deep living.
'मौत और जीवन का संगम', यह मैंने उस वक़्त ही जान लिया था, जब मैं गहरे जीने के पल में अलोप हो गई थी।





That incident was such that my change was inevitable; That incident took such a turn that it was necessary to bow down to me; Bowing: When death was recognized in this bowing, it became necessary for me to live.
वो घटना ही कुछ ऐसी थी कि मेरा बदलना लाज़मी था; उस घटना ने मोड़ ही ऐसे लिया कि मेरा झुकना ज़रूरी था; झुकना: जब इस झुकने में मौत की पहचान आई तो मेरा जीना ज़रूरी हो गया। 


« PREV
NEXT »

No comments

The best cure of the body is a quite mind:. Powered by Blogger.

Thanks you came here

Thanks you came here

Subscribe

Contact Form

Name

Email *

Message *