Let's Walk Like a Mystic

Small Question: Big Steps

Thursday, January 6

Small Questions: Big Steps



No living being is completely unconscious, when I experienced this, my small questions became my small steps and became my guide.
  •  When I recognized the silent laughter of nature, I settled in nature itself.
  • Kudrat is not only a great doctor, it is a religious book.
  • All the beauty around me is a natural way of purifying my ugliness.
  • I have lost or found myself, this question was understood to me that I have become a nature.
  • As I left a better life behind, I now have an even more beautiful life ahead of me.
  • When we come to see the nature right and deep, then our living becomes an art.
  • I recognized this today that nature is my home and the world is my discovery.
  • The world is a hospice for growing up, not for living.
  • To exist is not to live.
  • Nature speaks with patience, you have to learn patience if you want to listen to nature.
  •  All our lives are wonderful and miracles
  • There are no shortcuts and no detours to a place worth visiting.
  • Always take the beautiful route.
  • To find out 'who am I', I must go on a quest.
  • Nature is not only the most beautiful art, it is also a design.
  • Every aspect is capable of choosing only one thing in life, that is nature.
  • Walk on earth like you walk in a religious place.
  • Sometimes it only takes one break to set life right.
  • Let's find some beautiful places to get lost in.
  • This life is a romance as well as a discovery.
  • It's a deep existence... Let's explore!

  • ---*---

छोटे सवाल बड़े कदम 


कोई भी जीव पूर्ण रूप में बेहोश नहीं होता, जब मैंने यह अनुभव किया तो मेरे छोटे छोटे सवाल छोटा सा जवाब बन कर मेरे मार्ग-दर्शक बन गए

  • जब मैंने कुदरत की मौन हंसी को पहचाना तो मैं कुदरत में ही बस गई।   
  • कुदरत महान वैद्य ही नहीं,एक धार्मिक किताब है। 
  • मेरे आसपास की सुंदरता  सब मेरी करूपता को शुद्ध करने की कुदरती विधि है।
  • मैंने खुद को खोया है या पाया है ,यह सवाल मेरा मेरे को समझा गया कि मैं एक कुदरत हो चुक्की हूँ। 
  • जैसे जैसे मैंने पीछे बेहतर जीवन को छोड़ा,अब आगे मेरे उस से भी सुंदर जीवन खड़ा है। 
  • जब हम को कुदरत को सही और गहरा देखना आ जाता है तो हमारा जीना कला बन जाता है। 
  • मैंने यह आज ही पहचाना कि कुदरत मेरा घर  है और संसार मेरी खोज है। 
  • संसार जीने की नहीं बड़ा होने की धर्मशाला है।
  • अस्तित्व में रहना नहीं जीना है। 
  • कुदरत सब्र से बोलती है,आप को सब्र सीखना पड़ेगा अगर कुदरत को सुनना है। 
  •  हमारा तमाम जीवन अद्भुत और चमत्कार है   
  • जाने के योग्य किसी स्थान के लिए कोई शॉर्टकट्स नहीं होते और ना ही डेटोर्स होतें हैं ।
  • हमेशा सुंदर मार्ग अपनाएं।
  • 'मैं कौन हूँ',यह पता लगाने के लिए मुझे खोज पर जाना ही पड़ेगा। 
  • कुदरत सब से सुंदर कला ही नहीं, एक डिजायन भी है। 
  • हर पख से जीवन में एक ही चीज़ चुनने के काबिल है,वो है कुदरत।  
  • धरती पर ऐसे ही चलो,जैसे धार्मिक जगह पर चलते हो। 
  • जीवन को सही करने के लिए कभी कभी सिर्फ एक ही ब्रेक की ज़रुरत होती है। 
  • आइए खो जाने के लिए कुछ खूबसूरत जगह खोजें।
  • यह जीवन एक रोमांस भी है और एक खोज भी। 
  • यह एक गहरा अस्तित्व है... चलो एक्सप्लोर करें!

Post Comment

Amazing Nature

Amazing Nature
When following the Trail of Colorful Emotions and Beautiful Divine Connection, Then Life blossoms, Love begins to flow because True and Pure feeling is the living land of Love and a more beautiful abode to live in the Heart during the JOURNEY OF LOVE Creating is a priceless feeling. But in Those moments there are some of the most amazing Moments too, Which become functional to see Life in full Bloom with Divine Connection and Divine Action like SPRING. When Our Thoughts also Blossom in our Life. It is these Moments that make us Aware and make OUR life an ART OF JOY...